राजनेता हरिवंश नारायण सिंह (Harivansh Narayan Singh Biography In Hindi)

0
267
वे वर्तमान 2020 में भारत के राज्यसभा के उपसभापति हैं । वे एक राजनेता के साथ – साथ एक पत्रकार भी हैं । इन्होंने भारत के कई बड़े मीडिया नेटवर्क के साथ काम कर चुके हैं साथ ही वे कई मीडिया नेटवर्क के सलाहकार भी रहे हैं । वर्तमान में वे “जनता दल (यूनाइटेड)” के राजनीतिक सदस्य हैं ।
नाम हरिवंश नारायण सिंह
जन्म तिथि 30 जून 1956
जन्म स्थल उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के सिताबदियारा नामक गांव
पिता स्व श्री बांके बिहारी सिंह
माता देवजानी देवी
पत्नी आशा सिंह
व्यवसाय पत्रकार एवं राजनीतिज्ञ
राजनीतिक दल जे डी यू

प्रारंभिक जीवन

इनका जन्म 30 जून 1956 को उत्तर प्रदेश के बलिया जिले के सिताबदियारा नामक गांव में हुआ था । उनके पिता का नाम स्व श्री बांके बिहारी सिंह तथा माता का नाम देवजानी देवी है । उन्होंने अपनी स्कूल की पढ़ाई “जे पी इंटर कॉलेज उत्तर प्रदेश” से की है। वे अपने स्कूल के समय से ही एक अच्छे ओर आदर्श छात्र रहे हैं उनके व्यवहार के कारण शिक्षक भी इनसे खुश रहते थे । अपने कॉलेज के समय के दौरान, वह समाजवादी नेता जयप्रकाश नारायण (जेपी) से बहुत प्रेरित और प्रभावित थे। उन्होंने जे पी के कई कार्यक्रम में भी भाग लिया था । इन्हीं से प्रेरित होकर उन्होंने 1974 में अपना नारायण सरनेम हटा दिया । उन्होंने अर्थशास्त्र में स्नातकोत्तर किया है । वे बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय से पत्रकारिता में डिप्लोमा की है यहीं से उनकी पत्रकारिता का करियर शुरू हुआ । उन्हें डिप्लोमा के पश्चात ही 1977-78 में भारत के एक बड़े मीडिया नेटवर्क “टाइम्स ऑफ़ इंडिया” में चयनित कर लिया गया ।

कैरियर/ व्यवसाय

वे वर्तमान में एक राजनेता और पत्रकार हैं इसके अलावा उन्होंने शुरुवाती दिनों में बैंक में भी काम कर चुके हैं ।  उन्होंने अपना पहला व्यवसाय हिन्दू विश्वविद्यालय से पत्रकारिता में डिप्लोमा के पश्चात ही 1977 -78 में टाइम्स ऑफ़ इंडिया की तरफ से की ।  इसके पश्चात वे  मुंबई चले गए और वहां “धर्मयुग” मैगज़ीन के लिए 1981 तक काम करने लगे । इसके पश्चात 1981 में वे “बैंक ऑफ इंडिया” में काम करना शुरू कर दिए यहां वे 1984 तक काम किए ।
उन्होंने 1989 तक अमृत बाज़ार पत्रिका की पत्रिका ‘रविवार’ के साथ सहायक संपादक के रूप में काम किया। 1990 में, जब She चंद्र शेखर ’भारत के प्रधानमंत्री बने, हरिवंश को उनके अतिरिक्त मीडिया सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया। वह 25 वर्षों से अधिक समय तक बिहार और झारखंड के प्रतिष्ठित अखबार, “प्रभात खबर” के पूर्व संपादक थे।  उन्होंने बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल में हिंदी दैनिक के नए संस्करण भी लॉन्च किए हैं।
इस लंबे पत्रकार कैरियर के पश्चात उन्होंने राजनीति कैरियर की शुरुवात 2014 में की जब 2014 में, उन्हें नीतीश कुमार की जेडीयू ने राज्यसभा के लिए नामांकित किया था।  कहा जाता है कि राज्यसभा के लिए चुने जाने से पहले वह जदयू पार्टी के प्राथमिक सदस्य भी नहीं थे। ऐसा कहा जाता है कि वे नीतीश यादव के काफी करीबी थे । राज्य सभा के लिए चयनित होने के पश्चात उन्होंने रोहतास के बहुआरा गांव को गोद ले लिया । वे जनता दल पार्टी के पहले सांसद हैं, जिन्हें राज्यसभा के उपसभापति के पद के लिए चुना गया है।  9 अगस्त 2018 को, वे राज्यसभा के उपाध्यक्ष बने । उन्होंने  कांग्रेस पार्टी के बी. के. हरिप्रसाद (कर्नाटक से सांसद) को हराया।  हरिवंश को कुल 125 वोट मिले जबकि हरिप्रसाद को 105। इस तरह उनका कैरियर काफी लंबा रहा । वर्तमान में वे राज्य सभा के उपसभापति के रूप में कार्यरत हैं ।
वे वर्ल्ड एडीटर्स फोरम (डब्लूइएफ), एडीटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया, एशियाई विकास शोध संस्थान (आद्री), राष्ट्रमंडल मानवाधिकार पहल (सीएचआरआई) जैसी कई महत्वपूर्ण संस्थाओं के सदस्य भी रहे हैं।

परिवार

उनके पिता का नाम स्व श्री बांके बिहारी सिंह तथा माता का नाम देवजानी देवी है । उनका विवाह 23 अप्रैल 1978 को आशा सिंह के साथ संपन्न हुआ । वर्तमान में उनका एक बेटा और एक बेटी है ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here